आज है भाई दूज, जानिए क्यों मनाया जाता है यह त्यौहार

0 689

Bhai Dooj Shubh Muhurat 2019:होली के त्योहार के अगले दिन ही यानी कि 22 मार्च को भाई दूज का पर्व मनाया जा रहा है. भाई दूज के दिन बहनें भाई की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं और उनकी मंगलकामना करते हुए उनका तिलक करती हैं और आरती उतारती हैं. इसके बाद ही बहनें भोजन ग्रहण करती हैं. हम हर साल दस्तूर को निभाते हुए ये त्योहार मनाते हैं. आइए आज हम आपको बताते हैं भाई दूज का शुभ मुहूर्त.

भाई दूज का शुभ मुहूर्त (Bhai Dooj Shubh Muhurat 2019):
भाई दूज का मुहूर्त प्रारंभ- 22 मार्च को सुबह 03 बजकर 52 मिनट पर भाई दूज का शुभ मुहूर्त शुरू हो जाएगा.

भाई दूज का मुहूर्त समाप्त- 23 मार्च को रात 12 बजकर 55 मिनट पर भाई दूज का मुहूर्त समाप्त हो जाएगा.

भाई दूज का अमृत योग सुबह 09: 28 से शुरू होकर 10:58 तक रहेगा.

भाई दूज का शुभ मुहूर्त दोपहर 12 बजकर 28 मिनट से शुरू होकर दोपहर 1 बजकर 59 मिनट तक रहेगा.

भाई दूज की कहानी:
हिंदू शास्त्रों के अनुसार सूर्य की संज्ञा से दो संतानें थीं एक पुत्र यमराज और दूसरी पुत्री यमुना. संज्ञा सूर्य का तेज सहन न कर पाने के कारण अपनी छायामूर्ति का निर्माण कर उसे ही अपने पुत्र-पुत्री को सौंपकर वहां से चली गई. छाया को यम और यमुना से किसी प्रकार का लगाव न था, लेकिन यम और यमुना में बहुत प्रेम था.

यमराज अपनी बहन यमुना से बहुत प्यार करते थे, लेकिन ज्यादा काम होने के कारण अपनी बहन से मिलने नहीं जा पाते. एक दिन यम अपनी बहन की नाराजगी को दूर करने के लिए मिलने चले गए. यमुना अपने भाई को देख खुश हो गईं. भाई के लिए खाना बनाया और आदर सत्कार किया.
Holi 2019, Holika Dahan Katha: इसलिए मनाया जाता है होली का त्योहार, जानिए होलिका दहन की कथा

बहन का प्यार देखकर यमराज इतने खुश हुए कि उन्होंने यमुना को खूब सारे भेंट दिए. यम जब बहन से मिलने के बाद विदा लेने लगे तो बहन यमुना से कोई भी अपनी इच्छा का वरदान मांगने के लिए कहा. यमुना ने उनके इस आग्रह को सुन कहा कि अगर आप मुझे वर देना ही चाहते हैं तो यही वर दीजिए कि आज के दिन हर साल आप मेरे यहां आएं और मेरा आतिथ्य स्वीकार करेंगे. कहा जाता है इसी के बाद हर साल भाईदूज का त्योहार मनाया जाता है.


Leave A Reply

Your email address will not be published.