नई शिक्षा नीति पर विवाद: जावेडकर बोले- सरकार किसी पर कोई भाषा नहीं थोपेगी

0 180

गैर-हिंदी भाषी राज्यों में हिन्दी पढ़ाये जाने की मानव संसाधन विकास मंत्रालय की समिति की सिफारिश से उपजे विवाद के बीच केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शनिवार को स्पष्टीकरण दिया है. जावड़ेकर ने कहा कि समिति ने सिर्फ मसौदा रिपोर्ट तैयार की थी और इसे लागू करने पर कोई फैसला नहीं लिया गया है. सरकार किसी पर कोई भाषा नहीं थोपेगी.

पिछली मोदी सरकार में मानव संसाधन विकास मंत्री रहे प्रकाश जावड़ेकर द्वारा गठित समिति की ओर से प्रस्तावित नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मसौदे में गैर-हिंदी भाषी राज्यों में हिंदी पढ़ाने का सुझाव दिया गया था. जिसके बाद कई क्षेत्रीय दलों के नेताओं ने इसपर आपत्ति जाहिर की थी.

तमिलनाडु में द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) सहित विभिन्न राजनीतिक दलों ने मसौदे में राष्ट्रीय शिक्षा नीति में प्रस्तावित तीन भाषा फॉर्मूले का कड़ा विरोध किया है. उन्होंने इसे ठंडे बस्ते में डालने की मांग करते हुए दावा किया कि यह हिन्दी को ‘थोपने’ के समान है.

स्टालिन ने क्या कहा?

डीएमके प्रमुख एम के स्टालिन ने कहा कि तीन भाषा फार्मूला ‘प्राथमिक कक्षा से कक्षा 12 तक हिंदी पर जोर देता है. यह बड़ी हैरान करने वाली बात है’ और यह सिफारिश देश को ‘बांट’ देगी. मसौदा नीति जानेमाने वैज्ञानिक के कस्तूरीरंगन के नेतृत्व वाली एक समिति ने तैयार की है जिसे शुक्रवार को सार्वजनिक किया गया.

स्टालिन ने एआईएडीएमके पर निशाना साधते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी इसका कड़ा विरोध करें. ऐसा नहीं करने पर अपनी पार्टी के नाम से ‘अन्ना’ और ‘द्रविड़’ शब्द हटा दे.

सरकार ने कहा- हम किसी पर कोई भाषा नहीं थोपने जा रहे
इसपर जावड़ेकर ने कहा, ‘मोदी सरकार की हमेशा यह नीति रही है कि सभी भाषाओं को विकसित किया जाना चाहिए और किसी पर भी कोई भाषा नहीं थोपी जा नी चाहिए. इसके बारे में कोई अनावश्यक चिंता नहीं होनी चाहिए.’

चिदंबरम ने भी जताई आपत्ति
इस मुद्दे पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने तमिल में किये गए विभिन्न ट्वीट में कहा, ‘स्कूलों में तीन भाषा फॉर्मूले का क्या मतलब है? इसका मतलब है कि वे हिंदी को एक अनिवार्य विषय बनाएंगे…..’

उन्होंने ट्वीट किया, ‘भाजपा सरकार का असली चेहरा उभरना शुरू हो गया है.’ इस बीच ट्विटर पर #स्टॉपहिंदीइंपोजिशन, #टीएनएअगेंस्टहिंदीइंपोजिशन ट्रेंड करने लगा था.


Leave A Reply

Your email address will not be published.